Sunday, May 30, 2010

जीवन का निर्माण

हर मनुष्य जन्म लेते ही विद्वान नहीं होता
विद्वान बनाती है उसको उसकी निष्ठा ,और विद्या के प्रति लगन उसे!

हर शिशु जन्म लेते ही बड़ा नहीं होता
बड़ा बनाती है उसको उसकी अच्छी बुद्धि व् आचरण उसे !

हर बीज हमेशा पौधा नहीं बनता
एक अच्छा पौधा बनाती है ,उसकी गुणवत्ता उसे !

हर पौधा एक विशाल पेड़ नहीं बनता ,
विशाल बनाती है उसको उसकी देखभाल व् पोषण उसे !

ठीक इसी प्रकार हर मनुष्य महान नहीं होता
महान बनाती है समाज में उसकी संगती , अच्छा आचरण ,व् विनम्रता उसे!


  1. These Poems are really touching the heart.
    Keep writing the poems.
    It will give you the Unique identity in the crowd, because god has gifted this skill to you !
    God bless you !
    & Best of luck for the future !

  2. wowwwwwwwwwwwwww beautiful yaar very nice, really loved it.Hope every body read it seek some sence from it.Very true each and every word is just fit into it so perfectlly.Loved it don't stop writing now i want more of ur writing so get ready to write more because want more and more of ur writing.